एक रहस्यमयी गाँव कुलधरा का सत्य (Truth of Kuldhara Village)

Unsolved Mysteries Hindi

पालीवाल ब्राह्मणों ने 13वीं शताब्दी में कुलधरा गाँव (Kuldhara Village) का निर्माण किया था। यह भारत के एक राज्य राजस्थान के जैसलमेर जिले में स्थित है। यहाँ कभी 600 घरों का एक बड़ा ही सुंदर गाँव हुआ करता था। इसे पालीवाल ब्राह्मणों के समृद्ध साम्राज्य के रूप में भी जाना जाता रहा है। परंतु इतिहास को कुछ और ही मंज़ूर था। इसीलिए तो इस समृद्ध गाँव को इतिहास के स्वर्णिम पन्नों में जगह मिलने के बजाय, काले पन्नों में जगह मिली। महज एक रात के भीतर ही इस गाँव का इतिहास पूरी तरह से बदल गया। अब यह एक शापित जगह मानी जाती है। और इतिहास में दर्ज इसके किस्से दूर-दूर तक फैले हुए हैं।

तकरीबन 600 घरों में बसने वाले पालीवाल ब्राह्मणों ने, एक रात में ही पूरे गाँव को खाली कर दिया। इतिहास में जैसा दर्ज है कि उन ब्राह्मणों ने कुलधरा गाँव को इसलिए छोड़ दिया था, क्योंकि वहाँ पानी की कमी थी। परंतु बात यहीं समाप्त नहीं हो जाती है। जब स्थानीय लोगों (उस गाँव के आस-पास रहने वाले निवासी) से उनकी राय जानी गई, तो सब के मुख से एक ही कहानी बाहर निकलकर आई। और क्या है वो कहानी आइए जानते हैं-

पालीवाल ब्राह्मणों के एक मुखिया थें। उनकी एक सुंदर पुत्री भी थी। वह इतनी मोहक थीं कि कोई भी खुद को उन्हें दोबारा देखने से नहीं रोक सकता था। धीरे-धीरे उनकी सुंदरता के किस्से फैलने लगे और जल्दी ही उनके नाम के चर्चे जैसलमेर के दीवारों के भीतर भी होने लगी। जब यह बात जैसलमेर राज्य के मंत्री सलीम सिंह को पता चली, तो वह खुद उस सुंदर कन्या को देखने चल पड़ा। और जब उसने पहली बार उस कन्या को देखा, तो वह इतना मोहित हो गया कि उसने मुखिया की बेटी से शादी करने का निश्चय कर लिया। फिर क्या था उसने गाँव वालों को परेशान करना शुरू कर दिया। वह मुखिया पर दबाव बनाने लगा कि वे अपनी बेटी की शादी उससे कर दे। मगर गाँव वाले इसके सख्त खिलाफ थें। वे किसी भी कीमत पर मुखिया की बेटी की शादी सलीम सिंह से नहीं करने देना चाहते थें। वे नहीं चाहते थें कि एक ब्राह्मण की बेटी किसी गैर ब्राह्मण से शादी करे। फिर एक रात गाँव के मुखिया ने एक सभा बुलाई, जिसमें उन्होंने यह फैसला किया कि वे उसी रात पूरा गाँव खाली करके दूसरी जगह चले जाएंगे। ताकि सलीम सिंह उसकी बेटी से शादी न कर सके। फिर क्या था उन सभी ने रातों-रात गाँव खाली कर दिया। और जाते-जाते यह शाप दे डाला कि कभी कोई उनके स्थान कुलधरा में नहीं बस पाएगा।

और जैसा हमारी नज़रों के सामने है। कुलधरा आज भी वीरान और खंडहर बना हुआ है। वहाँ अब-तक कोई भी अपना घर नहीं बसा पाया है। इस तरह से एक रहस्यमयी गाँव कुलधरा शापित माना जाने लगा।

क्या कुलधरा सच में एक भूतिया जगह है?

वहाँ आस-पास रहने वाले लोगों ने यह बताया है कि वे जब भी कुलधरा गाँव के निकट जाते हैं, तो उन्हें अजीबो गरीब आवाजें आती सुनाई देती हैं। उनका कहना है कि उन्होंने किसी अज्ञात औरत के रूह को वहाँ भटकते देखा है। कुछ उस औरत को भूत बताते हैं, तो कुछ उसे चुडैल कहकर संबोधित करते हैं। उन्होंने वहाँ चूड़ियों के खनकने और पायलों की छनछनाहट भी सुनी है। पर जब उन्होंने उस आवाज़ का पीछा किया तो उन्हें कोई भी नजर नहीं आया। पर स्थानीय लोग दावे के साथ कहते हुए आए हैं कि उन्होंने सचमें ऐसी आवाजें सुनी हैं। इसके अलावा कुछ लोगों ने एक बूढ़े आदमी को हवा में लटकते भी देखा है।

जब एक साथ इतने लोग एक जैसी बात कहें, तो उसपर यकीन हो जाना लाज़मी है।

***

Ritu Raj

मेरा नाम ॠतु राज है और मैं आपका Magical Hindi Stories में स्वागत करता हूँ। मेरी कोशिश आप सभी पाठकों तक ऐसी नई और रोचक हिंदी कहानियाँ पहुँचाने की है, जिन्हें आप अवश्य पढ़ना चाहेंगे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: