कंप्यूटर को सुरक्षित रखने के तीन मामूली उपाय।

यदि आप कंप्यूटर या लैपटॉप लेने की सोच रहे हैं या आप इनका पहले से इस्तेमाल कर रहे हैं, तो फिर यह लेख आपके लिए है। अब हम एक ऐसे दौर में आ पहुँचे हैं, जहाँ कंप्यूटर हमारा दूसरा घर बन गया है। यह हमारे बहुत सी जरूरी फाइलों, फोटोस, महंगे गेम्स और ऐप्लकेशन का घर है। कोई भी इन्हें खोना नहीं चाहता। दुर्भाग्यवश हम लगातार ऐसी ग़लतियाँ करते रहते हैं, जिससे हमारे पी.सी की सुरक्षा खतरे में पड़ जाती है। इसलिए हमारा कुछ महत्वपूर्ण बातों पर ध्यान देना अति आवश्यक है, जिससे आप अपने पी.सी या लैपटॉप को सुरक्षित रख सके और उसका लंबे समय तक इस्तेमाल कर सके।

एंटी-वायरस  

अगर आप अपने पी.सी या लैपटॉप में एक विश्वसनीय और असली एंटी वायरस का इस्तेमाल कर रहे हैं तो यह एक अच्छी बात है। यह आपके कंप्यूटर को इंटरनेट द्वारा पैदा की गई 70% ख़तरों से तो अवश्य ही बचा लेगा।

साधारण एंटी वायरस – आपके कंप्यूटर को अलग-अलग तरह के वायरसों के हमले से बचाता है। यह ई-मेल द्वारा भेजे गए वायरसों से भी आपके कंप्यूटर की रक्षा कर लेता है जिससे आपका कंप्यूटर आसानी से चल पाता है। परंतु यह आपके कंप्यूटर की पूरी सुरक्षा नहीं कर पाता।  

टोटल सिक्युरटी – इसमें कोई शक नहीं कि ज्यादातर ख़तरों का स्रोत इंटरनेट है। इसलिए किसी भी अच्छे ब्रांड के एंटी-वायरस का “टोटल सिक्युरटी” संस्करण इस्तेमाल करने में ही अक्लमंदी है। “टोटल सिक्युरटी” इस्तेमाल करने पर आपको मुख्यतः हर तरह के वायरसों के ख़तरों से छुटकारा मिल जाता है। इसके अलावा ई-मेल द्वारा भेजा गया वायरस, वेब कैम स्पाइइंग या बेवजह के विज्ञापनों से भी यह आपके कंप्यूटर का बचाव करता है। यही नहीं यह आपको उन वेबसाइटों पर भी जाने से रोकता है, जो आपके कंप्यूटर के लिए सुरक्षित नहीं हैं और वेब-पेज पासवर्ड प्रोटेक्शन देकर यह आपके सभी अकाउन्टों की हिफ़ाज़त करता है। कई बार हम अपने एंटी वायरस को अपडेट करना भूल जाते है या इन अपडेटस की उपयोगिता पर ध्यान नहीं देते। ऐसे में हमारा एंटी वायरस खुद को नए वायरसों को रोकने और हटाने के लिए तैयार नहीं कर पाता, जिससे कंप्यूटर पर खतरा बढ़ जाता है।

पाइरटिड एंटी वायरस का प्रयोग करना सबसे बड़ी गलती होगी।

अपने विंड़ोज़ को भी समय-समय पर अपडेट करते रहे और साथ ही विडोज़ सिक्युरटी को चेक करते रहे। ताकि उसके कोई भी फीचर्स डिसेबल न हों।

इंटरनेट

एक ऐसी जगह है जहाँ जाने को बहुत सी जगहें है, देखने को काफी कुछ है और सीखने की कोई सीमा नहीं है। आपको पता ही नहीं चलता कि कब आप एक वेबसाइट से दूसरे फिर तीसरे और चौथे वेबसाइट पर चले जाते है। हमारा इंटरनेट इस्तेमाल करने के पीछे कोई न कोई मकसद अवश्य ही रहता है। संभव है कि आप जिस मकसद से इंटरनेट का उपयोग कर रहे है या जिस चीज की तलाश कर रहे है वह आपको न मिली हो या फिर यह भी संभव है कि इन वेबसाइटों की अदला बदली में आप अपने मुख्य विषय से भटक कर एक ऐसे वेबसाइट पर जा पहुँचे हों, जो आपके कंप्यूटर के लिए जरा भी सुरक्षित नहीं है। ऐसे में वायरसों का खतरा बढ़ जाता है। यह सच में जादुई दुनिया है, इसलिए आपको यहाँ आने से पहले और आने के बाद अपने मुख्य उद्देश्य को याद करते रहना चाहिए। आप इंटरनेट पर जिस चीज की तलाश कर रहे हैं, उसे वहीं तक सीमित रखे वरना आप बेवजह अपने कीमती समय को नष्ट करने के साथ-साथ अनचाहे वायरसों को भी निमंत्रण दे बैठेंगे।

पाइरटिड साफ्टवेयर और इसे फैलाने वाले वेबसाइटों से बचे 

यहाँ आपके कंप्यूटर में वायरस फैलने का खतरा सबसे ज्यादा होता है। याद रखें एक अच्छा एंटी वायरस बहुत प्रकार से आपको इन वेबसाइटों पर न जाने की चेतावनी देता है। फिर भी अगर आप अपने कंप्यूटर के एंटी वायरस को ताक पर रखकर ऐसी वेबसाइटों पर जाते हैं या फिर कुछ डाउनलोड करते है और उस दौरान आपके कंप्यूटर में कोई ऐसी फाइल आ जाती है, जिसे आपका एंटी वायरस नहीं रोक पाता और आप सोचते है कि उसे बाद में स्कैन कर आप हटा देंगे तो मुमकिन है कि आप गलत भी हो सकते हैं। क्योंकि कुछ वायरस बनाने वाले इतने चालाक होते है कि उनके द्वारा बनाया गया वायरस आपके एंटी वायरस के पकड़ में नहीं आता, जो आपकी सुरक्षा के लिए खतरा है। इसलिए ऐसी वेबसाइटों और साफ्टवेयर से दूर रहने में ही भलाई है।  

इसके अलावा….

कंप्यूटर को सही तरीके से बंद करना और खोलना।

अपने कंप्यूटर के विंडोज़ और विंड़ोज़ सिक्युरटी को लगातार अपडेट करते रहना।

अपने एंटी वायरस को हमेशा अपडेट करते रहना।

समय-समय पर अपने एंटी वायरस द्वारा फुल स्कैन करना।

कंप्यूटर या लैपटॉप इस्तेमाल करते वक्त उसे ज्यादा न हिलाना। इससे कूलिंग फैन के खराब होने का खतरा बढ़ जाता है।

कंप्यूटर के क्षमता के अनुसार ही उससे काम लेना।

बेवजह अपने कंप्यूटर को इंटरनेट से जोड़े रखने से बचना।

इन मामूली तरीकों को आप अपनी आदतों में शामिल कर अपने कंप्यूटर या लैपटॉप की उम्र बढ़ा सकते है, वह तेज काम करेगा और आपकी सुरक्षा भी बनी रहेगी।

***

Ritu Raj

मेरा नाम ॠतु राज है और मैं आपका Magical Hindi Stories में स्वागत करता हूँ। मेरी कोशिश आप सभी पाठकों तक ऐसी नई और रोचक हिंदी कहानियाँ पहुँचाने की है, जिन्हें आप अवश्य पढ़ना चाहेंगे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: