Monthly Archive: September 2018

0

जिन्न से मुलाकात

उन दिनों गरमी का मौसम था और रात में हम सब परिवार छत पर चाँद-तारों के नीचे सोया करते थें। जब आसमान से होती हुई ओस की बूंदे मेरे गद्दे पर पड़ती और रात...

0

4. आयामों की रेखा और नौ दुनिया

नेमो हमें उस कमरे में ले गई जो पूरी तरह से खाली था। मैं यहाँ पहले भी आ चुका था। यह वही कमरा था जिसमें दो त्रिकोण खिड़कियाँ थीं। बाहर घना अंधेरा था और...

0

सर्बिया का किसिल्जेवो गाँव

किसिल्जेवो उत्तर-पूर्वी सर्बिया का एक छोटा सा गाँव है। यहाँ तकरीबन 700 से 750 लोग रहते हैं। यह छोटा सा गाँव वैसे तो देखने में बेहद शांत नजर आता है। मगर इसके किस्से दुनिया...

0

गेस्ट हाउस

मैं अक्सर भूतों, प्रेतों और चुड़ैलों का मज़ाक उड़ाया करता था। जब भी ऐसी कोई बात छिड़ती, तो मैं जाने-अनजाने में कुछ ऐसा कह जाता, जो शायद मुझे नहीं कहना चाहिए। मेरे लिए तो...

0

दैत्य का जहाज

पानी के बड़े जहाज़ में घूमने के नाम से ही लोगों का रोमांच बढ़ जाता है। खासकर मेरे जैसे लोगों का, जिन्हें रोमांच और ख़तरों से प्यार होता है। इसलिए ही तो मैं अपनी...

0

3. सात महत्वपूर्ण अतिथि

मेरे दिखाई देने की वजह से मैं बहुत खुश था और शोभा भी। अब कौशल भी मुझे देखकर नहीं रो रहा था। हाँ अभी उसे अपने गोद में उठाने की मेरी इच्छा अधूरी थी।...

4

डार्क वेब और बेला इसौन

उन दिनों मैं अपने फ्लैट में अकेले रहा करता था। शाम को आँफिस से लौटने के बाद टीवी या लैपटाँप मेरे साथी बन जाया करते थें। वह शुक्रवार का दिन था और अगले दिन...