तनाव से लड़ने के 6 बेहतरीन उपाय

आज के दौर में तनाव बेहद तेजी से लोगों के दिमाग को प्रभावित करता जा रहा है। इससे स्वास्थ्य संबंधी ढेरों समस्याएँ पैदा हो रही हैं। तनाव की वजह तो हम सभी जानते हैं, पर क्या हम इससे निजात पाने के उपायों के बारे में भी जानते हैं? आइए आज हम तनाव से बचने के उपायों के बारे में जानकारी हासिल करते हैं-

1. व्यायाम

Health benefits

व्यायाम हमारे तनाव को कुछ ही दिनों में कम कर सकता है, बशर्ते हमें नियमित रूप से इसे करना होगा। यह हमारे शरीर में ज्यादा ऑक्सीजन पहुँचाकर न सिर्फ हमें मजबूत बनाता है बल्कि हमारे मनोदशा को भी बेहतर रूप देकर इसे फिर से तरोताजा कर देता है। व्यायाम का हमारे शरीर पर कैसा असर पड़ता है, यह बात हम सभी जानते हैं। मगर शायद हम यह नहीं जानते कि इसे करने से हमारे शरीर के मांसपेशियों की तरह ही हमारे मस्तिष्क की मांसपेशियों भी मजबूत बनती हैं। मस्तिष्क को ज्यादा ऑक्सीजन मिल पाता है, जिससे यह और भी ऊर्जावान बन जाता है और फिर धीरे-धीरे हमारा मन अपने आप ही सकारात्मक सोच से भर जाता है, फिर हम कुछ ही दिनों में तनाव के स्तर को गिरते हुए और फिर खत्म होते हुए भी महसूस कर सकते हैं।

व्यायाम की एक और खूबी यह होती है कि यह हमारे मांसपेशियों को ढीला कर देता है। यह तनाव को कम करने का एक बेहतरीन तरीका है। तनाव के दौरान हमारे शरीर की मांसपेशियाँ खींच जाती हैं, और अगर उस वक्त हम अपने मांसपेशियों को ढीला करने के लिए उसकी थोड़ी सी मालिश कर ले, तब अवश्य ही हमें क्षण भर में ही तनाव से मुक्ति मिल सकती है। इसके अलावा हल्के गर्म पानी से स्नान करना और एक अच्छी नींद लेना भी कारगर साबित होता है।

2. लंबी सांस लेने के फायदे

Health benefits

लंबी सांस यानी की ज्यादा ऑक्सीजन, जिसके प्रभाव से तनाव अपने आप ही कम हो जाता है। कहीं भी सीधे बैठकर और फिर अपने हाथों को घुटनों पर रख लेने के बाद, अपनी आँखों को बंद कर लीजिए। फिर आप ऐसा सोचे कि आप किसी शांत जगह पर मौजूद है। जब किसी शांत जगह की छवि आपके दिमाग में बन जाए तब आप अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित करके लंबी-लंबी सांसे लें। ऐसा दो से तीन मिनट करने से आप अवश्य ही तनाव मुक्त हो जाएंगे। यह तुरंत ही काम करता है। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इसे रोजाना करने से आपको कितना लाभ पहुँचेगा।

3. संतुलित आहार

Health benefits

हमें अपने जीवन में भोजन पर अनुशासन दिखाने की बहुत जरूरत है। आज के दौर में हम पेट भरने के लिए कुछ भी उलटा सीधा खा लेते हैं। या फिर हम वही खाना ज्यादा पसंद करते है, जो हमारे जीभ को अच्छा लगता है। यह हमारे पेट और सेहत के लिए कितना खतरनाक होता है, हम इसकी जरा भी परवाह नहीं करते। कभी-कभी तो हम जरूरत से ज्यादा खा लेते है। यह न सिर्फ हमारे पेट को गलत रूप से प्रभावित करता है, बल्कि हमारे मूड को भी बदल देता है और हमें तनाव का सामना करना पड़ता है। इसलिए संतुलित भोजन करना और भोजन के प्रति अनुशासन दिखाना बहुत जरूरी होता है। इसकी शुरूआत आप अपने भोजन की आदतों में सुधार लाकर कर सकते हैं।

4. अपने आप के लिए समय निकालना कितना जरूरी होता है

Health benefits

आधुनिक युग के इस भागदौड़ भरी जिंदगी में हम इस हद तक खुद को घुला हुआ पाते हैं कि हम अपने आप के लिए भी समय नहीं निकाल पाते। हमें यह भी नहीं पता होता कि हमारे शरीर का हमारे मस्तिष्क से कब का नाता टूट चुका होता है। दोनों में जरा भी तालमेल नहीं होता और यही तो तनाव के बढ़ने का कारण है। इसलिए हमारा अपने आप के लिए कुछ समय निकालना बहुत जरूरी है। यही वो मौका होगा, जहाँ हम खुद से बात करके स्वयं का निरीक्षण कर सकते हैं। यह पता लगाना बहुत जरूरी है कि हमारा दिमाग हमारे बारे में क्या सोचता है। अगर यह बार-बार हमें किसी तनाव से भरी बातों की तरफ ले जा रहा है, तब यह अति आवश्यक हो जाता है कि हम उस तनाव के मुख्य वजह का पता लगाए और बेहद शांति से और धीरे-धीरे उसकी जगह सकारात्मक सोच को भर के उसे खत्म न कर सके, तो कम से कम तनाव के स्तर को जरूर घटा लें।

इसी दौरान हम अपने दिनचर्या में सुधार लाने की छोटी सी पहल कर सकते है। यह करना मुश्किल जरूर है। मगर अपने आप को जानने और समझने के इस प्रक्रिया के दौरान, हम अपने मस्तिष्क को इसके लिए तैयार जरूर कर सकते है। दिनचर्या में सुधार करने से हम अपने आप ही अपने भीतर बदलाव को महसूस कर पाएंगे। इन बदलावों को सकारात्मक रूप देकर (सकारात्मक रूप से मेरा मतलब है ध्यान करना, योगा करना, ईश्वर की प्रार्थना करना, कुछ नई और अच्छी आदतें विकसित करना) हम तनाव से मुक्त हो सकते हैं। वैसे कहा तो यह जाता है कि खाली दिमाग शैतान का होता है। खाली बैठे रहने से नकारात्मक उर्जा अपने आप ही हमारे मस्तिष्क में घर करने लगती है। मगर अपने आप के लिए समय निकालकर, स्वयं का निरीक्षण करने से हममें इन नकारात्मक ऊर्जा और सोच को पहचानने की शक्ति विकसित हो जाती है। इससे हमें उन फ़िजूल के सोच को नियंत्रित करने का समय मिल जाता है और धीरे-धीरे हम वैसी सोच को नज़रअंदाज़ करना भी सीख जाते हैं। यह तनाव मुक्त होने का एक लाजवाब तरीका है। अपने आप के लिए समय निकाल कर हम काफी कुछ नया सीख सकते हैं और अपने दिमाग और शरीर के बीच संतुलन और तालमेल कायम कर सकते हैं।

नोट: इस प्रक्रिया को बिल्कुल सरलता से करना जरूरी है। इसका जरूरत से ज्यादा गंभीरता से अनुसरण करने के बजाय, बिल्कुल सरलता और मजे से पालन करना चाहिए।

5. अपनी समस्याओं के बारे में बात करना जरूरी है

Health benefits

आपके जीवन में एक ऐसे इंसान का होना बहुत जरूरी है, जिससे आप अपनी समस्या बता सकें और वह अपनी अच्छी बातों से आपकी समस्याओं का न सिर्फ हल निकाल सके, बल्कि आपके मस्तिष्क को सकारात्मक ऊर्जा से भी भर दे। समस्याओं पर ठंडे दिमाग से चर्चा करके आप इसका हल भी निकाल सकते हैं। यह भी तनाव को दूर करने का एक अच्छा तरीका होता है।

6. अपने आप को थोड़ी छूट देना

Health benefits

यह मान लेना कहीं से भी गलत नहीं है कि आप कुछ कामों को अच्छी तरह से नहीं कर पा रहे है। इसमें तनाव लेने का कोई फायदा नहीं है। यहाँ आप अपने आप को थोड़ी सी छूट देकर, अपने लिए चीजें आसान बना सकते हैं। ताकि यही तनाव आपके दूसरे कामों और मनोबल को प्रभावित न कर सके।

निष्कर्ष

यह बहुत जरूरी है कि आप स्वयं अपनी कमजोरियों का पता लगाए। मान लें कि अगर आपकी कमज़ोरी गुस्सा करना है और बार-बार आप इसके शिकार होते है, तो फिर आप निसंकोच होकर अपनी इस कमी को मान लें और इससे निबटने का रास्ता भी ढूंढे। यह इतना भी मुश्किल नहीं है कि जब आपको गुस्सा आए तो आप पानी पीकर उस जगह से दूर न जा सके। फिर आप अपने गुस्से के शांत होने की प्रतीक्षा करें। ऐसा आप खुद को पूरी ताकत के साथ दूसरे कामों में व्यस्त रखकर कर सकते हैं। ध्यान रहे पूरी ताकत से मेरा अभिप्राय एकाग्रता से है। आप पूरी कोशिश करें की आप जो कर रहे हो, आपका ध्यान सिर्फ उसी में लगा रहे। जब भी आपका ध्यान भंग होकर गुस्से वाली बात पर जाए और तनाव हावी होने लगे, तो आप ऊपर बताए नियमों के बारे में सोचकर फौरन उसका अनुसरण करें। फिर पुनः अपने काम में जुट जाए। क्योंकि उन नियमों का पालन करने से आप स्वयं को तनाव मुक्त करने के काबिल बना सकते हैं।

***

Ritu Raj

मेरा नाम ॠतु राज है और मैं आपका Magical Hindi Stories में स्वागत करता हूँ। मेरी कोशिश आप सभी पाठकों तक ऐसी नई और रोचक हिंदी कहानियाँ पहुँचाने की है, जिन्हें आप अवश्य पढ़ना चाहेंगे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: