Magical Hindi Stories Blog

0

ठंड के मौसम में स्वस्थ बने रहने के 5 तरीके

सर्दियों का मौसम बस अब शुरू होने को है। इसके साथ ही हमारे शरीर से जुड़ी कई समस्याएँ भी शुरू हो जाने वाली है। ऐसे में इस बात की महत्ता बढ़ जाती है कि...

0

ब्लडी मेरी की सच्ची कथा

ब्लडी मेरी कौन थी? मेरी प्रथम का जन्म ग्रीनविच इंगलैंड में 18 फरवरी 1516 को हुआ था। वह इंगलैंड और आयरलैंड की पहली रानी थी। उसने अपने कई सौ विरोधियों को मरवाया था, जिससे...

1

बंद दरवाज़ा

मैं अपने तीन दोस्तों के साथ अभी-अभी एक पी.जी में स्थानान्तरण हुआ था। घर में सुख-सुविधा की सारी चीजें थीं। इसलिए हमें अलग से कुछ खरीदने की आवश्यकता नहीं थी। शुरू के तीन महीने...

1

ग्रीन-टी पीने के सात अनमोल फायदे

चाय पीने की आदत औसतन सभी मनुष्यों में होती है और यह सभी को पसंद भी है। चाय हमारी थकावट को दूर भगाकर हमें फिर से तरोताज़ा कर देती है। पर क्या आप जानते...

0

1.भूत-प्रेत कहाँ रहते हैं?

अगर आपको गेस्ट हाउस वाली घटना याद नहीं तो मैं आप सभी से आग्रह करूँगा कि आप उसे पढ़ लें। गेस्ट हाउस वाली घटना को बीते हुए अब दो साल हो चुके है। और...

0

5. गौड्रिल का लौटना

उस वक्त रात के तकरीबन दो बज रहे होंगे, जब नेमो भयानक तरीके से चिल्लाई। मैं सोया नहीं था। इसलिए मैं सबसे पहले तहखाने की छत के बीच से होते हुए उसके पास पहुँचा।...

0

गडेरिया और जादुई खेतों के फसल

एक समय की बात है, एक छोटे से गाँव में एक पहलवान गडेरिया रहा करता था। उसकी ताकत से पूरा गाँव काँपा करता था। उसके पास पचास भेड़ें थी। हर वर्ष वह उन भेड़ों...

0

स्वामी विवेकानंद

शायद आप नरेन्द्र नाथ दत्त नाम को न जानते हों, मगर स्वामी विवेकानंद नाम से उन्हें सारी दुनिया जानती है। पहले इसी नाम से जाने जाते थे स्वामी विवेकानंद। तो फिर यह सफर कैसे...

0

डायन से शादी

घटना 18वीं सदी के अंत की है। तब हमारा देश एक साथ कई समस्याओं से जूझ रहा था। अंग्रेजों और जमींदारों की हुकूमत क्रूरता के नए अध्याय लिखते जा रहे थे और गरीब तबके...

0

रेप्लेह सन्नातास (Repleh Snatas)

अगर आप रेप्लेह सन्नातास के बारे में नहीं जानते हैं, तब तो आपको यह आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए। यह घटना 18 वीं सदी की है। एक औरत लगभग 4-5 गर्भपात के बाद एक बच्ची...

0

जिन्न से मुलाकात

उन दिनों गरमी का मौसम था और रात में हम सब परिवार छत पर चाँद-तारों के नीचे सोया करते थें। जब आसमान से होती हुई ओस की बूंदे मेरे गद्दे पर पड़ती और रात...

0

4. आयामों की रेखा और नौ दुनिया

नेमो हमें उस कमरे में ले गई जो पूरी तरह से खाली था। मैं यहाँ पहले भी आ चुका था। यह वही कमरा था जिसमें दो त्रिकोण खिड़कियाँ थीं। बाहर घना अंधेरा था और...

0

सर्बिया का किसिल्जेवो गाँव

किसिल्जेवो उत्तर-पूर्वी सर्बिया का एक छोटा सा गाँव है। यहाँ तकरीबन 700 से 750 लोग रहते हैं। यह छोटा सा गाँव वैसे तो देखने में बेहद शांत नजर आता है। मगर इसके किस्से दुनिया...

0

गेस्ट हाउस

मैं अक्सर भूतों, प्रेतों और चुड़ैलों का मज़ाक उड़ाया करता था। जब भी ऐसी कोई बात छिड़ती, तो मैं जाने-अनजाने में कुछ ऐसा कह जाता, जो शायद मुझे नहीं कहना चाहिए। मेरे लिए तो...